Sunday, October 24, 2021

कोरोना से बचाव के लिए घर में ही बनाएं आयुर्वेदिक हैंड माइश्चराइजर

Must read


देश में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े लगातार बढ़ते जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग भी लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दे रहा है। कोरोना से बचाव के लिए जहां सामाजिक दूरी और हमेशा मास्क लगाए रखना जरूरी है। वहीं, बार-बार हाथ धोने और सैनिटाइज करने की सलाह दी जा रही है। हालांकि, बार-बार सैनिटाइजर का उपयोग करने के बजाय हेल्थ एक्सपर्ट्स हाथों को साबुन से धोने की सलाह दे रहे हैं।

क्योंकि, बार-बार सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा खराब हो सकती है। आपकी त्वचा रूखी और खुरदरी होकर फटने लगती है। ऐसे में मॉइश्चराइजर का असर भी ज्यादा देर तक नहीं टिक पाता। इसलिए आप आयुर्वेदिक हैंड मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। घर पर इस मॉइश्चराइजर को बनाना काफी आसान है, साथ ही यह अधिक प्रभावी भी है।

घर में बना यह मॉइश्चराइजर ना सिर्फ कोरोना वायरस से बचाव में कारगर है। बल्कि, बाजार में मिलने वाले महंगे मॉइश्चराइजर की तुलने में यह काफी सस्ता भी होता है। इसके लिए आपको केवल एक कप सरसों का तेल, एक पीपल का पत्ता और 2 आम के पत्ते की जरूरत पड़ेगी।

इस तरह बनाएं आयुर्वेदिक हैंड मॉइश्चराइजर: इस मॉइश्चराइजर को बनाने के लिए एक लोहे की कड़ाही में सरसों का तेल डालकर उसे गर्म कर लें। तेल गर्म हो जाए, तो इसमें पीपल का पत्ता और आम के पत्ते डाल दें। करीब 5 मिनट के लिए धीमी आंच पर मिश्रण को पकाएं। फिर तेल ठंडा होने के बाद उसे छानकर किसी बर्तन में स्टोर कर लें।

सरसों का तेल हाथों को मुलायम बनाएं रखने में कारगर है। अगर आप इस मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करते हैं तो कई बार साबुन के इस्तेमाल के बाद भी आपके हाथ मुलायम बने रहेंगे।

कोरोना से करे बचाव: सरसों के तेल, पीपल और आम के पत्तों में कई तरह के एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। यह त्वचा पर मौजूद बैक्टीरिया को खत्म कर, हाथों में नमी को बरकरार रखते हैं। ऐसे में हमेशा साबुन से हाथों को धोने के बाद इस मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें। इसके अलावा आप रात में सोने से पहले भी अपने पूरे शरीर पर इस मॉइश्चराइजर की मालिश कर सकते हैं।

यह त्वचा को निखारने में भी मददगार है। साथ ही यह स्किन को सॉफ्ट भी बनाए रखता है। हालांकि, ध्यान रखें कि इस मॉइश्चराइजर को लगाने के बाद धूप में बाहर ना जाएं। क्योंकि, इससे आपका रंग डार्क हो सकता है।

 



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article