Thursday, October 21, 2021

झूमते हुए शख्स सुनाने लगा ‘कोई दीवाना कहता है’ कविता, देखें Video

Must read


हिंदी के मशहूर कवि कुमार विश्वास सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। वह अक्सर समसामयिक मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते नजर आ जाते हैं। हाल ही में उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में एक व्यक्ति शराब पीकर कुमार विश्वास की प्रसिद्ध कविता ‘कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है’ गाता नजर आ रहा है, उसका अंदाज देखकर कुमार विश्वास भी हैरान हैं।

बता दें, कुमार विश्वास की कविता ‘कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है’ केवल देश में ही नहीं विदेशों में भी काफी फेमस है। ऐसे में अक्सर इस कविता पर लोग अलग-अलग वर्जन शेयर करते नजर आ जाते हैं। वहीं, कुमार विश्वास ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “इसे कहते हैं ‘नशीली प्रस्तुति’।”

कुमार विश्वास द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो पर फैन्स खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर सियाराम ने ट्वीट करते हुए लिखा, “शराब से ज्यादा नशा तो कुमार विश्वास जी का चढ़ा हैं। हमें बेहोश कर साकी, पिला भी कुछ नहीं हमको, कर्म भी कुछ नहीं हमको, सिला भी कुछ नहीं हमको… मोहब्बत ने दे दिया है सब, मोहब्बत ने ले लिया है। सब मिला कुछ भी नहीं हमको, गिला भी कुछ नहीं हमको।”

वहीं, प्रशांत कुमार के यूजर ने लिखा, “यह बिल्कुल सच है सर, आपको सुनना एक नशे की तरह है। चाहे कविता हो या फिर मोटिवेशनल स्पीच, स्प्रीचुअल बातें हों या फिर राजनीतिक भाषण।”

संजय बेलीवाल नाम के यूजर ने लिखा, “ये बिल्कुल सत्य है, डॉ. साहब की बात ही निराली है। जो ख्वाबों में मेरे आएं, महक चाहते हैं हम अक्सर, कभी जो रू-ब-रू हो तो, चहक जाते हैं हम अक्सर। कि शब्दों में नशा यो घोलकर बैठे हैं, पढ़ते ही कभी पीते नहीं लेकिन बहक जाते हैं हम अक्सर।”

बता दें, कुमार विश्वास अन्ना हजारे के ‘लोकपाल बिल’ को लेकर किए गए आंदोलन के दौरान काफी चर्चा में आए थे। इसके बाद उन्होंने 2012 में आम आदमी पार्टी का दामन थामा था। हालांकि, कुछ विवादों के बाद उन्होंने पार्टी का साथ छोड़ दिया। जिसके बाद से कुमार विश्वास राजनीति पर अक्सर अपने विचार सोशल मीडिया के जरिए रखते नजर आ जाते हैं।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई






Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article