Thursday, October 28, 2021

डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद हैं ये योगासन, जानिये

Must read


आज के समय में देश में हजारों लोग टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज की बीमारी से जूझ रहे हैं। डायबिटीज एक क्रॉनिक डिसीस है। जब पैन्क्रियाज शरीर में इंसुलिन का उत्पादन कम या फिर बंद कर देता है तो इसके कारण मधुमेह यानी डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। आंकड़ों के मुताबिक आज देश में करीब 7.8 प्रतिशत लोग मधुमेह की बीमारी से ग्रसित हैं।

डायबिटीज की बीमारी में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखना बेहद ही आवश्यक होता है। क्योंकि ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से कारण दिल का दौरा, ब्रेन स्ट्रोक, मल्टीपल ऑर्गन फेलियर और किडनी फेलियर जैसी जानलेवा स्थितियां भी पैदा हो सकती हैं। मधुमेह के रोगियों को दूसरी बीमारियों की चपेट में आने का खतरा भी रहता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो दवाइयों के साथ-साथ कुछ ऐसे योगासन हैं जो डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभदायक साबित हो सकते हैं। साथ ही ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

कपालभाति: कपालभाति के नियमित अभ्यास से शरीर में खून बेहतर तरीके से सर्कुलेट होता है। यह आसन पेट की मसल्स को भी एक्टिव करता है। इस योगासन का नियमित तौर पर अभ्यास करने से मन-मस्तिष्क तो शांत रहता ही है साथ ही यह पूरे शरीर में एनर्जी का संचार करता है। इसके लिए पद्मासन की आरामदायक स्थिति में बैठकर अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करते हुए आंखों को बंद करें लें। साथ ही अपनी हथेलियों को घुटनों पर रखें। फिर सामान्य रूप से सांस लेते हुए उसे जोर से छोड़ें। 3 मिनट के लिए प्रतिदिन इस योग का अभ्यास करें।

धनुरासन: डायबिटीज से ग्रसित मरीजों का पैन्क्रियाज काफी कमजोर होता है, जिसके कारण इंसुलिन के उत्पादन में कमी आती है। धुनरासन पैन्क्रियाज को एक्टिव करने में मदद करता है। साथ ही यह पेट के अंगों को मजबूत बनाता है। बता दें, यह आसन पेट के बल लेट कर किया जाता है। नियमित तौर पर धनुरासन के अभ्यास से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है।

योगमुद्रासन: मधुमेह रोगियों के लिए योगमुद्रासन बेहद ही फायदेमंद होता है। क्योंकि यह आसन इम्युनिटी बूस्ट करने में मदद करता है। जो लोग साइनस और माइग्रेन की परेशानी से जूझ रहे हैं उनके लिए भी योगमुद्रासन लाभदायक हो सकता है।

हलासन: हलासन के नियमित अभ्यास से वसा को कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही यह थायरॉयड, किडनी और अग्न्याशय को बेहतर बनाने में फायदेमंद होता है। हलासन के प्रतिदिन अभ्यास से हाई ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल किया जा सकता है।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article