Wednesday, October 20, 2021

दीया मिर्ज़ा को डॉक्टर ने नहीं दी कोरोना टीका लेने की सलाह, जानिए वजह

Must read


भारत में 18 से अधिक आयुवर्ग के लोगों को वैक्सीन लगने शुरू हैं। अब तक करोड़ों लोगों का टीकाकरण हो चुका है। बच्चों के लिए भी वैक्सीनेशन का ट्रायल हो रहा है। हालांकि, अब भी लोगों को ये उलझन है कि किन्हें वैक्सीन लेनी चाहिए और किन्हें नहीं। इस बीच दीया मिर्जा ने बताया कि उन्हें डॉक्टर ने फिलहाल वैक्सीन नहीं लेने की सलाह दी है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्ज़ा इन दिनों अपनी प्रेग्नेंसी पीरियड का लुत्फ उठा रही हैं। सोशल मीडिया पर बेहद एक्टिव दीया अपने फैंस के साथ सभी जानकारियों को शेयर करती हैं। कभी तस्वीरें तो कभी कुछ बातों के जरिये वो फैंस के साथ इंटरैक्ट करती रहती हैं।

बता दें कि पिछले कुछ दिनों में अधिकतर सेलिब्रिटीज व क्रिकेटरों ने वैक्सीन लगवा ली है। साथ ही, दूसरे लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित और जागरुक कर रहे हैं। हालांकि, दीया मिर्ज़ा ने अपने ट्विटर हैंडल से जानकारी शेयर कर बताया है कि गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं इस दौरान क्या करें।

अपने पोस्ट में दीया ने गर्भवती महिलाओं पर कोरोना व उसके टीके के असर पर प्रकाश डाला है। एक ट्विटर यूजर के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा है कि ये बहुत ही जरूरी है। इसे जरूर पढ़ें और ये भी ध्यान में रखें कि भारत में इस्तेमाल हो रहे वैक्सीन में किसी का प्रेग्नेंट या फिर लैक्टेटिंग मदर्स पर ट्रायल या जांच नहीं किया गया है। ऐसे में उनके डॉक्टर ने उन्हें तब तक टीकाकरण न कराने की सलाह दी है जब तक क्लिनिकल ट्रायल न हो जाएं।

रिसर्च में किया गया है बड़ा दावा: अब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनकोलॉजी नामक पत्रिका में छपे लेख के मुताबिक इस वैक्सीन से गर्भ में पल रहे शिशु की नाल को कोई हानि नहीं पहुंचेगी। इस स्टडी में शिकागो के 84 गर्भवती महिलओं जिन्होंने टीका लिया और 116 वैसी प्रेग्नेंट महिलाएं जिन्होंने टीका नहीं लिया शामिल थीं। बता दें कि अधिकतर महिलाओं को फाइजर या मॉडर्ना की वैक्सीन लगाई गई थी।

ये है एक्सपर्ट का कहना: एक्सपर्ट्स मान रहे हैं कि तीसरी लहर से पहले की तैयारी तब तक अधूरी होगी जब तक गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं वैक्सीनेटेड नहीं हो जाती हैं।

संक्रमित गर्भवती महिलाएं किन बातों का रखें ध्यान: स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिलाएं अपने ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल की जांच हर कुछ घंटों के अंतराल पर करते रहें। तनाव कम लें, हेल्दी भोजन करें ताकि कमजोरी और थकान कम महसूस हो।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article