Sunday, October 24, 2021

नवजात शिशु के काले और घने बालों के लिए इन तेलों कर सकते हैं इस्तेमाल, जानिये

Must read


एक मां के लिए अपने नवजात शिशु की देखभाल करना सबसे अहम होता है। क्योंकि, इसी दौरान उसका समग्र रूप से विकास हो रहा होता है। नवजात की हड्डियों को मजबूत करने के लिए महिलाएं उनके शरीर की अलग-अलग तेलों से मालिश करती हैं। लेकिन अगर बचपन में ही उनके बालों की सही देखभाल की जाए, तो बड़े होकर बच्चों के बाल काले, घने और मजबूत बनते हैं।

काले और मजबूत बालों के लिए तेल की मालिश काफी अहम मानी गई है। क्योंकि, मालिश करने से सिर को पोषण मिलता है। यह बालों को जड़ों से लेकर सिरे तक पोषण देते हैं। ऐसे में आप भी अपने बच्चे को बालों को स्वस्थ बनाने के लिए इन तेलों का इस्तेमाल कर सकती हैं।

नारियल तेल: नारियल के तेल में किसी भी तरह का कोई केमिकल नहीं होता। बल्कि, इसमें कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। नारियल के तेल में मौजूद कार्बोहाइड्रेट और विटामिन बच्चे के सिर को पोषण देते हैं। ऐसे में आप अपने बच्चे के सिर की मालिश करने के लिए नारियल के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं।

अरंडी का तेल: आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में अरंडी के तेल का इस्तेमाल हजारों वर्षों से किया जा रहा है। यह स्कैल्प को इंफेक्शन से बचाता है, साथ ही पोषण भी देता है। अरंडी के तेल में मौजूद विटामिन ई, फैटी एसिड और ओमेगा-9 फैटी एसिड बच्चे के हेयर ग्रोथ को बेहतर बनाते हैं। अरंडी के तेल से ना सिर्फ शिशु के सिर की मालिश बल्कि उनके शरीर की मसाज भी की जा सकती है।


तिल का तेल: बालों को लंबा करने के लिए भी तिल का तेल काफी फायदेमंद है। यह स्कैल्प पर होने वाले फंगल इंफेक्शन को भी ठीक करता है। जिन बच्चों के सिर में डैंड्रफ हो जाता है, उनके सिर में तिल के तेल से मालिश करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

सरसों का तेल: सरसों के तेल का इस्तेमाल खाने में भी किया जाता है। इसमें मौजूद ओलिएक एसिड और लिनोलिक एसिड बालों को काला और घना बनाने में मदद करते हैं। यह स्कैल्प पर ब्लड सर्कुलेशन को सक्रिय बनाते हैं। ऐसे में आप अपने शिशु के शरीर की मसाज भी सरसों के तेल से कर सकती हैं।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article