Thursday, October 28, 2021

संस्कृत ऐप हुआ लॉन्च, जानें क्या है खास

Must read

संस्कृत ऐप हुआ लॉन्च, जानें क्या है खास

इंडियन काउंसिल फॉर कल्चल रिलेशनशिप (ICCR) ने अपनी स्थापना दिवस के दौरान एक संस्कृत ऐप लॉन्च किया है, जिसका नाम लिटिल गुरु (Little Guru) है। जानकारी के मुताबिक, यह दुनिया का पहला गेमिफिड संस्कृत लर्निंग ऐप ( Gamified Sanskrit learning App) है।

शुक्रवार को चीन के बीजिंग में ICCR ने 71वें स्थापना दिवस के चलते कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान ICCR के स्कॉलर भी वहां मौजूद थे। इस कार्यक्रम के दौरान ICCR ने लिटिल गुरु ऐप से पर्दा उठाया और इसे दुनिया का पहला गेमफिट संस्कृत लर्निंग ऐप बताया। इस ऐप को बीजिंग में भारतीय एंबेसडर विक्रम मिस्री और संस्कृत व भारतीय स्टडीज के जाने-माने स्कॉलर की मौजूदगी में लॉन्च किया गया।

लिटिल गुरु ऐप में है सीखने का खास प्रोसेस

लिटिल गुरु ऐप को खासतौर से संस्कृत सीखने के लिए तैयार किया गया है। यह ऐप एक गेमफिड आधारित है, जो एक इंट्रैक्टिव प्लेटफॉर्म है और संस्कृत सीखने को आसान बनाता है। इसमें जो लोग संस्कृत सीख रहे हैं या फिर सीखने की इच्छा रखते हैं वे खेल, प्रतियोगिता, पुरस्कार और अन्य साथियों के बातचीत के दौरान एक आसान तरीके का इस्तेमाल करते हुए संस्कृत सीख सकते हैं। लिटिल गुरु ऐप को बनाने के लिए गेमएप स्पोर्टस्विज टेक प्राइवेट लिमिटेड के साथ समझौता है। इस ऐप को तैयार करने के दौरान बदलती तकनीक और बदलती पढ़ाई विधियों का ध्यान रखा गया है।

गूगल प्लेस्टोर पर भी मौजूद हैं कई संस्कृत ऐप

अगर आप भी संस्कृत सीखने की चाहत रखते हैं और कोरोना संक्रमण के चलते आप बाजार से पसंदीदा बुक नहीं खरीद पा रहे हैं तो आप गूगल प्लेस्टोर से ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए आपको गूगल प्ले स्टोर पर जाकर सर्च बार में संस्कृत लर्निंग ऐप टाइप करना होगा, जिसके बाद आप सभी ऐप के डिस्क्रिप्शन चेक कर सकते हैं, अपनी पसंद के आधार पर ऐप डाउनलोड कर सकते हैं।

चीन में कई सालों से है संस्कृत

लिटिल गुरु ऐप की लॉन्चिंग के दौरान चीन में जाने-माने संस्कृत विद्वान और पेकिंग विश्वविद्यालय में चीन-भारत बौद्ध अध्ययन, ओरिएंटल एवं भारतीय अध्ययन संस्थान के निदेशक वांग बैंगवई भी मौजूद थे। वांग बैंगवई के मुताबिक, भारतीय संस्कृति की जड़ संस्कृत है और यह चीन में भी काफी पसंद की जाती है। पेकिंग विश्वविद्यालय चीन के सबसे पुराने विश्वविद्यालयों में से एक है और इस साल विश्वविद्यालय में संस्कृत की पढ़ाई शुरू होने के 100 वर्ष पूरे हो रहे हैं।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article